You are currently viewing Organizational Behavior in Hindi ( संगठनात्मक व्यवहार )

Organizational Behavior in Hindi ( संगठनात्मक व्यवहार )

इस Article में हम organizational behavior in Hindi के बारे में पूरी तरह पढ़ेंगे। इसमें पढ़ेंगे What is organizational behavior in Hindi (organizational behavior क्या है ?), Definition of organization behavior in Hindi (organizational behavior की परिभाषा ?) organizational behavior Study Goals ( Organizational behavior के Study Goals in Hindi), Concepts of organizational behavior in Hindi आदि के बारे में अच्छे से पढ़े।

Organizational Behavior in Hindi ( संगठनात्मक व्यवहार क्या है ? )

Organizational behavior एक तरह की academic study होती है कि ऑर्गेनाइजेशन के लोग groups में कैसे interact करते है और क्या करते है ? Organizational behavior के principles की study attempts में preliminary apply होती है जिससे business के operations और अच्छे से operate किए जा सके।

Definition of organizational behavior (Organization behavior की परिभाषा ? )

Human behavior की study organizational setting में, human behavior और organization के बीच interface और organization खुद , ये तीनों चीजे मिलकर organization behavior बनाते है।

OB research को हम 3 तरीको में categorized कर सकते है –

  1. individuals in organizations (micro-level)
  2. work groups (meso-level)
  3. how organizations behave (macro-level)

Organizational Behavior Study Goals in Hindi 

Hawthorne study के leaders के पास कुछ radical notions है। उन्हे लगता है कि वे scientific observation को use करके employee’s amount और quality of work को बढ़ा सकते है और वे workers को interchangeable resource की तरह नहीं देखते। Workers जो psychology और potential के बारे में थोड़ा unique सोच रखते है  सोचते है company में आराम से फिट हो जाते है।

Program के उपर निर्भर हो कर कोई एक specific topics को study कर सकता है जो organizational behavior से जुड़े हुए है।  Specific topics जो cover किए गए है वो है cognition, decision-making, learning, motivation, negotiation, impressions, group process, stereotyping, और power and influence. Broader study areas के अंदर social systems,  dynamics के change, markets, relationships between organizations and their environments, how social movements influence markets, और the power of social networks जैसे topics cover किए जाते है।

Why Is Organizational Behavior Important?(organizational behavior क्यों जरूरी है)

Organizational behavior describe करता है लोग organization और business में किस तरह इंटरेक्ट कर रहे है। ये interactions बहुत influence करते है organization को कि ये खुद केसे behave करते है और ये कितना अच्छा perform करते है। businesses के लिए organizational behavior  streamline efficiency के लिए, improve productivity के लिए और spark innovation के लिए इस्तमाल किया जाता है।

 

Elements of Organizational Behavior in Hindi

organizational behavior के 4 elements है – people, structure, technology, और external environment. अगर हम ये समझ के कि ये elements एक दूसरे के साथ कैसे interact करते है हम अपने business में improvements का सकते है। जबकि कुछ factors और easily organization द्वारा controlकिए जा सकते है जैसे कि structure और people hired— इसको external factors और economic environment से कैसे respond करते है आना चाहिए।

 

Three Levels of Organizational Behavior in Hindi 

पहला है individual level जिसमे involves organizational psychology और human behavior और incentives की understanding involve है। दूसरा level है groups. ये social psychology और sociological insights into human interaction और group dynamic involve करता है। Top level है organizational level. इसमें organization theory और sociology आते है जो systems-level को analyses और study करते है कि कैसे ये firms एक दूसरे के साथ कैसे engage हो गई।

 

What Are Some Common Problems That OB Tries to Solve?(वो कौन सी सामान्य परेशानियां है जो organizational behavior ठीक करने की कोशिश करता है?)

Organizational behavior का उपयोग managers और consultants करते है organization को improve करने के लिए और key issues को खत्म करने के लिए जो अक्सर आते है। इनमे direction की कमी आ सकती है या company का strategic company में कोई difficulty न आए,एक और अच्छा work environment बनाने के लिए,  training employees के issues, poor communication और feedback, और भी कई छोटी मोटी परेशानियां।

Leave a Reply